तुलसी विवाह पूजा विधि  (Tulsi Vivah Vidhi)

 ये विवाह अंखड सौभाग्य और सुख-समृद्धि के लिए हर सुहागन स्त्री को करना चाहिए।

तुलसी विवाह शाम के समय करना सबसे अच्छा है।  

तुलसी के गमले पर गन्ने का मंडप बना लें।  

तुलसी के ऊपर लाल चुनरी और सुहाग की सामग्री चढ़ायें.

इसके बाद तुलसी के गमले में शालिग्राम जी को रखकर विवाह की रस्में शुरू करें। 

इस के दौरान विवाह के सारे नियमों का पालन करें।

शालिग्राम और तुलसी पर हल्दी लगाने के बाद मंडप पर भी हल्दी लेप लगाकर पूजा करें।

मिठाई और प्रसाद को भोग लगायें। 

इस के बाद विवाह की सारी रस्में पूरी करने के बाद प्रसाद बांटें।